हेलो दोस्तों नमस्कार आप सभी का स्वागत करता हूं आज के इस पोस्ट में दोस्तों आज के  इस पोस्ट में हम जानेंगे कि एनपीएस क्या है और इसके क्या फायदे और नुकसान हैं एनपीएस से क्या होता है इसकी सभी जानकारी आज के इस पोस्ट में मैं आपको बताने वाला हूं तो दोस्तों अगर आप भी एनपीएस के बारे के बारे में जानना चाहते हैं तो मेरे इस पोस्ट के लास्ट तक मेरे साथ बने रहे तो चलिए बिना देर किए हम जानते हैं कि एनपीएस क्या है।


नेशनल पेंशन स्कीम एक पेंशन योजना है जिसे जनवरी 2004 में  सरकारी कर्मचारियों के लिए शुरू किया गया था रिटायरमेंट के बाद भी आपको नियमित आय मिलती रहती है इसके लिए रिटायरमेंट प्लानिंग बहुत जरूरी है अलग-अलग जगह पर निवेश करके आप अपने भविष्य को अभी से ही सुरक्षित कर सकते हैं रिटायरमेंट प्लानिंग के लिहाज से निवेश एक अच्छा विकल्प नेशनल पेंशन स्कीम NPS भी है सरकार द्वारा चलाई गई स्कीम में मई 2019 तक 55 लाख तक लोग निवेश कर चुके हैं इस स्कीम को और भी आकर्षित को और भी आकर्षित बनाने के लिए सरकार ने इसमें और भी नए बदलाव किए हैं तो चलिए अब हम जानते हैं कि नेशनल पेंशन स्कीम क्या है।


नेशनल पेंशन स्कीम ( NPS ) क्या है?


नेशनल पेंशन स्कीम ( NPS )  एक पेंशन योजना है जिसे जनवरी 2004 में सरकारी कर्मचारियों के लिए शुरू किया गया था । इसे 2009 में सभी कैटेगरी के लोगों के लिए भी चालू कर दिया गया कोई भी व्यक्ति अपने कामकाजी जीवन के दौरान भी पेंशन खाते के नियमित रूप से योगदान दे सकता नियमित रूप से योगदान दे सकता है एकत्रित की गई धनराशि के एक हिस्से को वह एक बार में निकाल भी सकता है और बची हुई राशि का उपयोग रिटायरमेंट के बाद नियमित आय प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है व्यक्ति के निवेश और उस पर मिलने वाले रिटर्न मिलने वाले रिटर्न से NPS खाता बढ़ता है।


NPS का Full Form हिंदी में?


राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली ( NPS )  एक पेंशन निवेश योजना है इसमें निवेश योजना है इसमें भारत सरकार द्वारा भारत के नागरिकों को वृद्धावस्था सुरक्षा प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है। PFRDA  द्वारा स्थापित राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली न्यास ( NPS Trust ) के अंतर्गत सभी आस्तियों का पंजीकृत मालिक है।


इस खाते में सभी लोग निवेश कर सकते हैं?


★ केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों के लिए।

★ निजी क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए।

★ राज्य सरकार के कर्मचारियों के लिए।

★ आम नागरिकों के लिए।


NPS खाता कैसे खुलवाएं?


ऑफलाइन प्रक्रिया :-


◆ एनपीएस खाता ऑफलाइन या मैन्युअल रूप से खुलवाने के लिए व्यक्ति को अब पहले pop - point of presence (  यह बैंक भी हो सकता है ) खोजना  होगा।

◆ अपने नजदीकी pop से एक सब्सक्राइबर फॉर्म लीजिए और इसे KYC फॉर्म के साथ जमा करें।

◆ एक बार जब आप पर अंबिक निवेश करते हैं ₹500 या ₹250 मानसिक या फिर ₹1000 से कम नहीं होता तो pop  आपको एक prom स्थाई रिटायरमेंट खाता संख्या भेजेगा।

◆ इस संख्या और पासवर्ड की मदद से आप अपने खाते को चला सकते हैं।

◆ इस प्रक्रिया के लिए आपको ₹125 का एक बार रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करना होगा।


ऑनलाइन प्रक्रिया :-

◆ दोस्तों यदि आप अपने खाते को पैन कार्ड आधार कार्ड या फिर मोबाइल नंबर से मोबाइल नंबर से जोड़ते हैं तो एक खाता ऑनलाइन खोलना आसान है आप अपने मोबाइल पर भेजे गए ओटीपी का उपयोग करके रजिस्ट्रेशन रजिस्ट्रेशन ओटीपी का उपयोग करके रजिस्ट्रेशन रजिस्ट्रेशन को माननीय कर सकते हैं इसके बाद आपको 1 रन स्थाई सेवानिवृत्त खाता संख्या मिलेगा जिसकी मदद से आप एनपीएस लॉगइन के लिए कर सकते हैं।


एनपीएस में मिलने वाला फायदा?


★ सरकार ने एनपीएस से अंतिम निकासी पर भुगतान की छूट की सीमा को 40% से बढ़ाकर 60% तक कर दिया है।


★ फाइनेंस मिनिस्टर ने एनपीएस ट्रस्ट को पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी पीएफआरडीए से अलग करने का फैसला किया।


★ सरकार द्वारा अपने कर्मचारियों के खातों में योगदान की सीमा को 10 से बढ़ाकर 14 फ़ीसदी करने का भी प्रस्ताव किया गया है।

               Nasnal penshion skim kya hai


★ मौजूदा प्रावधानों के अनुसार कोई भी एनपीएस ग्राहक अपने रुपए की कुल सीमा में इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80CCD 1 के तहत ग्रास  इनकम का 10 से 30 तक  टैक्स डिडक्शन क्लेम मर कर सकता है सेक्शन 80CCE के तहत यह  लिमिट 1.5 लाख है।


सेक्शन 80cce के तहत ग्राहक 50 हजार रुपये तक का अतिरिक्त डिडक्शन क्लेम कर सकता है।



एन्युटी के खरीद में निवेश की गई राशि को भी कर से पूरी तरह छूट प्राप्त है।


एनपीएस में निवेश करने के नुकसान ?


★ टियर 1 में जमा किए गए पैसे की लिक्विडिटी बहुत कम है क्योंकि पैसा निकालने के नियम बड़े कठोर होते हैं।


★ अकाउंट को सक्रिय रखने के लिए हर साल कम से कम ₹6000 का योगदान करना जरूरी होता है।


पेंशन फंड मैनेजर का चुनाव करने और अकाउंट शुरू करने की प्रक्रिया जटिल होती है


NPS  खातों के प्रकार -


एनपीएस में दो तरह के खाते होते हैं टियर 1 और टियर 2


★ 60 साल की उम्र तक  टियर 1 से फंड विद्ड्राल नहीं किया जा सकता है।


टियर 2 एनपीएस खाते एक बचत खाता की तरह काम करता है जहां से ग्राहक अपनी जरूरत के हिसाब से पैसे निकाल सकते हैं।


इस योजना में कौन कौन शामिल हो सकता है?


★ कोई भी भारतीय नागरिक रेजिडेंट या नॉन रेजिडेंट इस स्कीम में निवेश कर सकते है।


★ इस स्कीम में 18 से 60 साल का व्यक्ति निवेश कर सकता है साथ में केवाईसी प्रक्रिया के बाद नागरिक इस योजना में व्यक्तियों और एम्पलाई एंप्लाई समूह के रूप में शामिल भी हो सकता है।


★ नॉन रेजिडेंट  इंडिया  NRI भी इस स्कीम में निवेश कर सकता है NRI द्वारा किए गए योगदान BRI  और फेमा द्वारा नियमित किए जाते हैं।


नेशनल पेंशन स्कीम रिटर्न्स -


यह सबसे अहम सवाल होता है कि  एनपीएस में पेंशन कितना मिलेगा लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है  कि 60 साल का होने पर आप कितना रकम की एन्युटी  खरीदते हैं जितना ज्यादा रकम की एन्युटी खरीदेंगे उतना ही ज्यादा रकम हर महीने पेंशन का मिलेगा एन्युटी  इस बात पर निर्भर करता  है कि आपका पेंशन वेल्थ कितनी है।


20 हजार मंथली पेंशन और और 45 लाख पेंशन और 45 लाख फंड के साथ होंगे रिटायर : एनपीएस में 18,लाख  करना होगा निवेश


एनपीएस कैलकुलेटर से समझे।


हमने यहां निवेश की औसत उम्र 30 साल मानी है यही इसमें ₹5000 मंथली योगदान को बेस बनाया है 30 साल की उम्र से अगर योजना से जुड़ते हैं तो इसमें 7 साल की उम्र तक यानी 31 साल तक आपको निवेश करना होगा।


◆ NPS में मंथली निवेश:  ₹8000 ₹7000 सालाना।

◆ 30 साल में कुल योगदान:  18 लाख रुपए।

◆ निवेश पर अनुमानित रिटर्न : 8 %

◆ मैच्योरिटी पर कुल रकम: 75,01476 रुपये

◆ अधिकतम टैक्स फ्री विड्रॉल: 45,00,886 रुपए मेच्योरिटी अमाउंट का 60%

◆ पेंशन के लिए अमाउंट: 30,00,590 रुपये

◆अनुमति एन्युटी रेट: 8%

◆60% की उम्र पर पेंशन : 20 हजार रुपये महीना।


निष्कर्ष:-

हेलो दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि NPS क्या है और इसके क्या फायदे हैं और क्या नुकसान है इत्यादि सभी जानकारियों के बारे में आप अच्छे से समझ गए होंगे लेकिन इसके अलावा भी अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप मुझसे कमेंट करके पूछ सकते हैं या फिर फेसबुक इंस्टाग्राम टि्वटर इत्यादि के जरिए आप मेरे साथ जुड़ सकते हैं दोस्तों अगर आपको मेरा पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों में और इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों में शेयर करें।

2 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post